[Pro & Cons] Blogger Vs WordPress In Hindi

[Pro & Cons] Blogger Vs WordPress In Hindi

वर्डप्रेस आपके वेबसाइट का फुल ऑनरसीप आपको देता है। वर्डप्रेस वेबसाइट के आर्टिकल्स तथा डाटा का मालिक वर्डप्रेस वेबसाइट का डेवलपर या यु कहे जिसने वेबसाइट को अपने पर्पस के लिए बनाया है, उसी का होता है।

वर्डप्रेस एक फ्री सॉफ्टवेयर है, जिसे कोई भी अपना वेबसाइट को इसकी मदद से डेवलप तथा डिजाइन कर सकता है। इसके लिए आपको वर्डप्रेस को कुछ भी देने की जरूरत नहीं होती है। Blogger Vs WordPress In Hindi

वर्डप्रेस में आप के बेबसाइट के लिए बहुत सारे थीम अबलेवल हैं। जिसे आप अपनी वेबसाइट को प्रोफेशनल तथा अटैकटिव लुक दे सकते हैं। जैसा कि प्रोफेशनल वेबसाइट के लिए वेबसाइट को अटैकटिव कथा प्रोफेशनल दिखना बहुत जरुरी होता है।

वर्डप्रेस में आप अपनी वेबसाइट को और अधिक प्रोफेशनल दिखाने के लिए बहुत सारे प्लग- इन तथा थीम मौजूद है। इसके अलावा वर्डप्रेस में बहुत सारे टूल्स भी अबलेवल है, जिससे आप अपने वेबसाइट को कस्टमाइज तथा सर्च इंजन में हायर रैंक दिलवाने के लिए बहुत जरुरी होता है।

वर्डप्रेस का टूल्स हमेशा रेगुलर अपडेट होते हैं

आपको अपने वर्डप्रेस वेबसाइट के लिए काफी कुछ खर्च करना पड़ेगा। इसके लिए आपको वेबसाइट होस्टिंग के लिए तथा आपको वेबसाइट के डोमेन के लिए आपको पेमेंट करने पड़ेंगे। जो एक मोटी रकम खर्च करनी पड़ती है।

वर्डप्रेस वेबसाइट कि सिक्योरिटी के लिए भी आपको कुछ पेमेंट करनी पड़ती है। वर्डप्रेस वेबसाइट के लिए बहुत सारी जगहों पर आपको पेमेंट करने पड़ते है।

बहुत सारी टूल्स भी है, जिसके लिए आपको पेमेंट करनी पड़ती है। आपको वर्डप्रेस वेबसाइट कि बैकअप रखने के लिए भी आपको पेमेंट देने पड़ते हैं। इसके अलावा बहुत सारे थीम्स है, जिसे आपको पेमेंट देने पड़ते हैं। इस तरह से वर्डप्रेस वेबसाइट बनाना एक महंगा सौदा होता है। जिसे आपको खासी रकम खर्च करनी पड़ती है।

और आपको चिंता लगी होती है, कि इस वेबसाइट का खर्च कहां से निकाले। जब तक आप की वर्डप्रेस वेबसाइट को गूगल एडसेंस से अप्रूवल नहीं मिल जाता। तब तक इनकम का स्रोत नहीं बन पाता है।

जो एक ब्लॉग राइटर लिए बहुत चिंता की बात होती है। क्योंकि ब्लॉगर इसी की आस में दिन रात मेहनत करते हैं, कि हमें गूगल का एडसेंस का अप्रूवल मिल जाएगा और हमारे वर्डप्रेस वेबसाइट से कुछ अर्निंग शुरू हो जाएगी।

वेबसाइट या ब्लॉग से इनकम ले पाते हैं

लेकिन आप जैसे-जैसे डीजीटल मार्केटिंग में आगे कि तरफ बढ़ते हैं, तो आपको हर चीज धीरे-धीरे समझ में आने लगती है, कि ब्लॉग तथा वर्डप्रेस वेबसाइट से पैसे कमाना इतनी आसान नहीं है.

क्योंकि इसके लिए आपके वर्डप्रेस वेबसाइट के उपर अच्छी खासी विजिटर भी आनी चाहिए। तभी आप एक वेबसाइट या ब्लॉग से इनकम ले पाते हैं।

वर्डप्रेस का कोई भी अपना विज्ञापन देने के लिए कोई भी पैरेंट कंपनी नहीं है, जिससे कि पब्लिशर के वर्डप्रेस वेबसाइट पर विज्ञापन चलाया जाये। इसके लिए आपको गूगल का एडसेंस या अन्य विज्ञापन कंपनी के ऊपर निर्भर रहना पड़ता है, या फिर एफिलिएट मार्केटिंग का सहारा ले सकते हैं।

ये भी पढ़े

घर बैठे पैसे कमाने का Top 20 बेस्ट तरीका

ब्लॉगिंग करके इंटरनेट से पैसा कैसे कमाये

Blogger Vs WordPress In Hindi

वर्डप्रेस वेबसाइट के लिए आप फ्री होस्टिंग तथा फ्री का डोमेन भी ले सकते हैं, लेकिन बाद में चलकर इसके लिए ही आपको पेमेंट करनी पड़ती है। फ्री के डोमेन तथा फ्री की होस्टिंग हो जाने के बाद इसमें कई तरह की और प्रॉब्लम भी आने शुरू हो जाती है। जैसे पुरे दिन में कुछ टाइम के लिए आपके वर्डप्रेस वेबसाइट बंद हो जाती है।

इस वर्डप्रेस वेबसाइट को गूगल में रैंक करवाना काफी मुश्किल हो जाता है। जरुरी है कि आप एक प्रोफेशनल ब्लॉगर बनना चाहते हैं, तो एक होस्टिंग तथा डोमेन जरुर खरीदें, नहीं तो आपको फ्री के होस्टिग तथा फ्री का डोमेन बाद में आपको बहुत प्रॉब्लम शुरु करता है।

वर्डप्रेस के वेबसाइट के लिए बाहर बहुत सारे ट्रेंड प्रोफेशनल मार्केट में उपलब्ध हैं, जो आपके एरर को आसानी से क्लियर कर सकते हैं। इसके लिए बहुत सारे फोरम भी अवेलेबल है, जहां से आप अपने वर्डप्रेस वेबसाइट पर आये एरर दूर करने के लिए पढ़ सकते हैं।

वर्डप्रेस दिनों दिन डेवलप कर रहा है, और इसके मार्केट में बहुत सारे प्लगइन भी आ रहे हैं, लेकिन ब्लॉगर में ऐसा नहीं हो रहा है।

वर्डप्रेस वेबसाइट को आप गूगल में आसानी से रैंक कर सकते हैं, लेकिन ब्लॉगर को आप आसानी से रैक नहीं कर सकते। क्योंकि वहां कोई इस तरह का टूल्स नहीं है, जो आपको गूगल में रैंक करने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड करे।

वर्डप्रेस वेबसाइट के क्या फायदे है

वर्डप्रेस के वेबसाइट के लिये योस्ट प्लगइन, इनके द्वारा आपको स्टेप बाय स्टेप पोस्ट में गाइड करता है, कि आपका पोस्ट गूगल में रैंक करने के लिए सही है या नहीं।

वर्डप्रेस कि वेबसाइट की एक बहुत बड़ा प्रॉब्लम है, कि ज्यादा ट्रैफिक आने पर वर्डप्रेस कि वेबसाइट क्रैश तथा वेबसाइट स्लो हो जाती है।

वर्डप्रेस कि वेबसाइट को आप को मेंटेनेंस तथा सिक्योरिटी का खुद ही ध्यान रखना पड़ता है, जबकि ब्लॉगर के लिए आपको कुछ भी ध्यान देने की जरुरत नहीं है। आप अपना केवल ब्लॉग लिखें तथा लिखकर भूल जाये। बाकि का सारा काम गूगल करेगा।

हमें आशा है, कि ये आर्टिकल आप को पढ़कर अच्छा लगा होगा तथा आपको यह जानकारीप्रध लगा होगा। यदि आप चाहते हैं कि इसे दूसरे भी फायदा उठाये तो आप इसे अपने सोशल मीडिया में शेयर करना न भूलें।

इस से संबंधित किसी प्रकार के और जानकारी आपके पास हो तो हमसे शेयर करना ना भूलें। चाहे तो इससे संबंधित कोई और जानकारी के लिए कमेंट बॉक्स में हमें कमेंट कर के बता सकते हैं।

1 thought on “[Pro & Cons] Blogger Vs WordPress In Hindi”

  1. कहना चाहूँगा की जब तक आपका ब्लॉग रेडी नहीं हो तथा एक विजिटर के लिए एक अच्छा एक्सपेरियेनस ना मिल रहा हो तब तक आप इसे गूगल एडसेंस अप्रूवल के लिए न लगाये।

    Reply

Leave a comment

ten + ten =