Google Blogger Top Ten Pros And Cons In Hindi

[Google Blogger ] Top Ten Pros And Cons In Hindi

विश्वस्तु show

इंटरनेट से पैसे कैसे कमाये ओ भी एक गूगल में ब्लॉग बना कर.ब्लॉगर गूगल का प्रोडक्ट है, तथा यहां कोई भी अपना ब्लॉग बना सकता है, तथा उस ब्लॉग को गूगल के एडसेंस से अप्रूवल लेकर ब्लॉगिंग करके इंटरनेट से पैसा कमा सकते है.

गूगल के ब्लॉगर में ब्लॉग बनाने के लिये ज्यादा टेक्नीकल नॉलेज कि जरुरत नहीं है. कोई भी थोडा सा समझ कर गूगल ब्लॉगर में अपना ब्लॉग बना कर इंटरनेट से पैसा कमा सकता है. बस थोड़ा लिखने पढने कि अपनी हॉबी को जगाना पड़ेगा. Google Blogger Top Ten Pros And Cons In Hindi

इंटरनेट से पैसा कमाने के लिए ब्लॉगर एक अच्छा प्लेटफार्म

गूगल का ब्लॉगर ज्यादा सिंपल है, इसलिये इसे ब्लॉग लिखने के लिए ज्यादा लोग लाइक करते है. ब्लॉगर ज्यादा लोग अपने विचार को दुनिया से आदान-प्रदान करने के लिए ही शुरू करते है, लेकिन बाद में वे इसे इंटरनेट से पैसा कमाने के लिए सोचते है. पहले कोई भी ब्लॉग को हॉबी के लिए शुरु करते है, और यह सही भी है.

Google Blogger Top Ten Pros And Cons In Hindi

ब्लॉग कैसे बनाये

ब्लॉग कैसे बनाये ये सवाल बहुत लोगो का होता है. गूगल ब्लॉगर वह सब बेसिक प्लेटफार्म देता है, जो एक ब्लॉगर को ब्लॉगिंग के लिए चाहिये. यानि ब्लॉग में सिम्पलिसिटी से लेकर एक बढ़िया सिक्योरिटी फीचर तक वह भी मुफ्त. मेरे हिसाब से एक ब्लॉगर को अपना ब्लॉग का कैरियर कि शुरुआत यही से करनी चाहिये.

क्यों कि सिखने के लिए इस से बढ़िया प्लेटफार्म और कोई नहीं हो सकता है. जो भी ब्लॉगिंग कि शुरुआत ब्लॉगर से करता है, कुछ सालों में ही वह वर्डप्रेस प्लेटफार्म पर शिफ्ट हो जाता है. क्यों कि कुछ ऐसे बेसिक रिसोर्स ब्लॉगर में नहीं मिल पाता है , जो वर्डप्रेस देता है.

कस्टम डोमेन भी रजिस्टर कर सकते है

ब्लॉगर में आपके ब्लॉग नेम के बाद यूआरएल में ब्लॉगस्पॉट ऑटो में ऐड हो जाता है, यानि ब्लॉगर में ब्लॉग बनाते है, तो गूगल सब डोमेन ब्लॉग को देता है. जैसे एक उदाहरण से आप समझ सकते है, आपका ब्लॉग का नाम आपने सोचा “माय ब्लॉग” तो आपका ब्लॉग का यूआरएल येसे होगा- माय ब्लॉग ब्लॉगस्पॉट.कॉम, जो एक प्रोफ़ेसनल ब्लॉग के लिए ठीक नहीं है.

लेकिन कुछ पेमेंट करके आप वहा से अपना कस्टम डोमेन भी रजिस्टर कर सकते है. कस्टम डोमेन लेना ही समझदारी है, जिससे ब्लॉग का ब्रांड डेवलप कर सकने में मदद मिलता है.

ब्लॉग का ऑनरशिप गूगल का होगा

अगर आप गूगल ब्लॉगर में ब्लॉग आप लिखेंगे, लेकिन ब्लॉग का ऑनरशिप गूगल का होगा. जो ब्लॉगर का सबसे बड़ा बैकड्रा है. ब्लॉग राइटर का केवल अर्न किया गया अमाउंट ही होता है. ब्लॉगर को आप अपने अनुसार कस्टमआइज नहीं कर सकते.

ये भी पढ़े

ब्लॉगिंग करने के लिए 4 मूलभूत आवश्यकता

पैसे कमाने के तरीके,घर बैठे पैसे कमाने का बेस्ट तरीके

जीरो इन्वेस्टमेंट विथ मैक्सिमम प्रॉफिट बिज़नेस है

ब्लॉगर में अपना ब्लॉग बनाने के लिए ब्लॉगर को कुछ भी पेमेंट नहीं करना पड़ता है. ब्लॉगर सभी के लिए बिल्कुल ही फ्री है. जो एक ब्लॉग राइटर के लिए बहुत अच्छा है. यानि जीरो इन्वेस्टमेंट विथ मैक्सिमम प्रॉफिट बिज़नेस है. कोई भी बिना कोई इन्वेस्टमेंट के इंटरनेट से पैसा कमा सकता है.

गूगल ब्लॉगर में लिखने की परपस से आप ब्लॉग बना सकते हैं

गूगल ब्लॉगर में लिखने की परपस से आप ब्लॉग बना सकते हैं. जिससे कि आपकी लिखने कि आदत बनी रही. ब्लॉगर अपनी ब्लॉग कि मदद से अपना विचार को दुनिया में भेज सकता है. यानि आपका विचार किसी के लिए सिखने का लेसन हो सकता है और कोई ब्लॉगर के लिए इंटरनेट से पैसा कमाने का जरिया.

गूगल ब्लॉगर पर केवल गूगल के एडसेंस से ही पैसा कमाये जा सकते हैं

गूगल ब्लॉगर पर केवल गूगल के एडसेंस से ही पैसा कमाये जा सकते हैं. किसी भी थर्ड पार्टी का आप अपने ब्लॉग पर ऐड नहीं चला सकते हैं या कोई एफिलिएट मार्केटिंग का लिंक नहीं डाल सकते है.

यानि ब्लॉग राइटर एडसेंस पर पैसा कमाने के लिए निर्भर हो जाता है. यदि किसी रूल वाईलेसन के कारण आपका एडसेंस डिसएबल हो जाता है तो पूरा आपका ब्लॉग पर किया गया मेहनत ख़राब हो जायेगा और आपका इंटरनेट से पैसा कमाने का विचार पर पानी फिर सकता है.

ब्लॉगर में कुछ एक्स्ट्रा फीचर्स नहीं जोड़ सकते हैं

प्लगइन से आप ब्लॉगर में कुछ एक्स्ट्रा फीचर्स नहीं जोड़ सकते हैं. जैसे वर्डप्रेस कि साईट में एक्स्ट्रा फीचर के लिये बहुत सारे प्लगइन है. जिससे साईट को लुक चेंज कर सकते है. साईट पर सोशल मीडिया शेयरिंग बटन तथा लाइक बटन जोड़ सकते है. पोस्ट लिखते समय योस्ट प्लगइन से पोस्ट को सर्च इंजन ओप्तिमाइज़ कर सकते है.

ब्लॉग का सुरक्षा फीचर्स गूगल के द्वारा ही देखा जाता है

मगर ब्लॉगर में बने ब्लॉग का सुरक्षा फीचर्स गूगल के द्वारा ही देखा जाता है. इसके लिए ब्लॉगर को अलग से कुछ भी पेमेंट नहीं करते हैं. आपके ब्लॉग का गूगल के द्वारा ही सर्च इंजन ओप्तिमाइज़ की जाती है, जो गूगल के ब्लॉगर में एक अच्छा फीचर है.

गूगल का ब्लॉगर इवेंट ब्लॉगिंग के लिए बहुत ही अच्छा है

गूगल का ब्लॉगर इवेंट ब्लॉगिंग के लिए बहुत ही अच्छा है. ब्लॉगर में कितने भी ट्राफिक आने पर इसकी स्पीड में कोई कमी नहीं आती है. क्योंकि गूगल ही इसका देख रेख करता है, तो ये इवेंट ब्लॉगिंग के लिए बहुत ही अच्छा प्लेटफार्म है. क्योंकि इवेंट ब्लॉगिंग में एक साथ हजारों लाखों में ट्राफिक आती है, जिससे वर्डप्रेस का साइट डाउन होने की संभावना ज्यादा रहती है

लेकिन ब्लॉगर में यह बहुत ही अच्छा फीचर है कि इसमें हजारों लाखों ट्राफिक आने के बाद भी वेबसाइट क्रैश नहीं करती है. कोई भी गूगल ब्लॉगर में इवेंट ब्लॉगिंग करके आसानी से इंटरनेट से पैसा कमा सकता है.

ब्लॉगर को आप वर्डप्रेस में भी माइग्रेट कर सकते हैं

फुल फ्लेज़ ब्लॉग को आप वर्डप्रेस में भी माइग्रेट कर सकते हैं, लेकिन इसमें डर बना रहता है कि आप का डाटा तो कॉपी हो जाता है, लेकिन हो सकता है, कि आपका सारा सर्च इंजन ओप्तिमाइज़ खत्म हो जाए और ब्लॉग का यूआरएल काम करना बंद हो जाए.

ब्लॉगर में वेबसाइट के लिए थीम बहुत ही लिमिटेड है

ब्लॉगर में वेबसाइट के लिए थीम बहुत ही लिमिटेड है, जिससे आप एक प्रोफेशनल साइट कि लुक अपने ब्लॉग को नहीं दे सकते. गूगल का ब्लॉगर में प्लगइन भी नहीं है. जिससे वेबसाइट को प्रोफेशनल लुक दिया जाये.

वेबसाइट को अच्छा तथा प्रोफेशनल दिखना बहुत ही जरूरी होता है, तभी उस पर ट्राफिक कुछ देर के लिए रुकते हैं. वेबसाइट अच्छा नहीं दिखने पर विजिटर तुरंत ही बैक कर देते हैं. जिसे वेबसाइट का बाउंस रेट बढ़ जाता है और आपके बेबसाइट का एडसेंस डिसेबल होने की खतरा बना रहता है.

गूगल ने ब्लॉगर प्रोडक्ट को कही साइड कर दिया है

यानि कह सकते है, कि शायद गूगल ने ब्लॉगर प्रोडक्ट को कही साइड कर दिया है, क्यों अभी तक ब्लॉगर में कोई मेजर परिवर्तन नहीं आया है. कोई जब भी गूगल में कोई टॉपिक सर्च करते है, तो शायद ही कोई ब्लॉगर का ब्लॉग पहले पेज में आता है. क्योंकि ब्लॉगर वो बेसिक टूल्स प्रोवाइड नहीं करता है, जिससे ब्लॉग को सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ किया जा सके.

ब्लॉग को गूगल कभी भी आपके अनुमति के बिना बंद कर सकता है

ब्लॉगर में बने ब्लॉग को गूगल कभी भी आपके अनुमति के बिना कोई उसके रूल वाइलेट होने पर ब्लॉग को क्लोज कर सकता है, जो आपके लिए एक धातक साबित हो सकता है और किसी एक ब्लॉग राइटर के लिए बहुत ज्यादा दुखदायी हो सकता है.

हमें आशा है, कि ये आर्टिकल आप को पढ़कर अच्छा लगा होगा तथा आपको यह जानकारीप्रध लगा होगा. यदि आप चाहते हैं कि इसे दूसरे भी फायदा उठाये तो आप इसे अपने सोशल मीडिया में शेयर करना न भूलें.

इस से संबंधित किसी प्रकार के और जानकारी आपके पास हो तो हमसे शेयर करना ना भूलें. चाहे तो इससे संबंधित कोई और जानकारी के लिए कमेंट बॉक्स में हमें कमेंट कर के बता सकते हैं.

2 thoughts on “Google Blogger Top Ten Pros And Cons In Hindi”

  1. इस वेबसाइट पर बहुत अच्छा ब्लॉग! कुछ उपयोगी जानकारी के साथ ऐसी शानदार सामग्री खोजना वाकई मुश्किल है।

    Reply

Leave a comment

17 + 3 =